BREAKING NEWS:
IST 06:01:32 AM ⬤ पीडीए समर्थित जाप(लो•) के उम्मीदवार नवीन कुमार ने दर्ज कराया अपन

एक दिवसीय शिव गुरू परिचर्चा में उमड़े श्रद्धालु

R K S | 11-01-2019 22:16:58

एक दिवसीय शिव गुरू परिचर्चा में उमड़े श्रद्धालु Sonebhardaexpress.com | Bihar News | Nerth East News | West Bengal News | Sikkim News | Purnea News |

सहरसा:

शिव ही एक मात्र है जो हंै गुरू, रोजवैली स्कूल के प्रांगण हुआ कार्यक्रम सिमरी बख्तियारपुर/सहरसा, निज संवाददाता। नगर पंचायत मुख्यालय स्थित रोजवैली स्कूल के समीप एक दिवसीय शिव परिचर्चा का आयोजन किया गया। इस शिव परिचर्चा में काफी संख्या में शिव शिष्य खासकर महिलाओं ने भाग लिया। शिव शिष्य को संबोधित करते हुए शिव शिष्य भाई रामविलासजी ने कहा कि मानवता के रक्षा के लिये मात्र एक उपाय बचा

ै। आम.अवाम को भगवान शिव के गुरु स्वरूप से जोड़िये। साहब श्री हरिदानंद जी एव दीदी नीलम आनंद जी की मनसा एव मार्गदर्शन में उनके द्वारा दिये गये तीन विधा जो शिव भाव को जगाने में सहायक है इसे ईमानदारी से आत्मसात किया जाये। जीवन में जब.जब संकट के बादल मंडराते हैंए तब.तब भगवान शिव ने ही रक्षा की है। हमें भगवान अपने गुरु के प्रति सच्ची श्रद्धा व विश्वास रखने की जरूरत है। वही जगत के गुरु हैं। स

स्तीपुर जिले के बिथान से आये शिव शिष्य शुभनारायन जी ने कहा कि शिव गुरु से आया ज्ञान जीवन जीने की कला सिखाता है। उन्होंने कहा कि ने कहा कि भगवान शिव विश्व गुरु हैं। इनकी विधिवत पूजा.अर्चनाए कीर्तन.भजन व परिचर्चा से मनुष्य का पारिवारिक जीवन कृतार्थ हो जाता है। भगवान शिव मनुष्य के पहले गुरु माने जाते हैं। हर व्यक्ति को समय.समय पर भगवान शिव की परिचर्चा करनी चाहिए। इससे मनुष्यों के जीव

न में आने वाली हर बाधाएं टल जाती है। मन मांगी मुराद पूरी होती है। बेगूसराय से आये डॉ रामशंकर जी ने कहा कि ग्रंथ व पुराणों में भगवान शिव की चर्चा के बखान हैं। हमें उसका अनुश्रवण करना चाहिए जिससे हमारा जीवन एवं पारिवरिक सुख शांति बनी रहे। तीन सूत्रों का पालन ईमानदारी से करेगा उनके जीवन का अंधेरा दूर हो जायेगा। इस कार्यक्रम में बहन रेशमा एव बिलास जी के शिव गुरु भजन का उपस्थित शिव.भक्त

ं ने आनंद लिया। इस परिचर्चा को सफल बनाने में श्याम, सागर साह, दिनेश यादव, रीता देवी, रूबी देवी, शबनम देवी कंचन देवी, गुड़िया देवी सहित कई शिव.शिष्य मोजूद थे।