BREAKING NEWS:
IST 06:01:32 AM ⬤ पीडीए समर्थित जाप(लो•) के उम्मीदवार नवीन कुमार ने दर्ज कराया अपन

यूपीएससी के इंटरव्यू में फेल होने वालों को भी मिलेगी सरकारी नौकरी!

श्रवण कुमार | 12-02-2019 02:24:34

यूपीएससी के इंटरव्यू में फेल होने वालों को भी मिलेगी सरकारी नौकरी! Sonebhardaexpress.com | Bihar News | Nerth East News | West Bengal News | Sikkim News | Purnea News |

नई दिल्ली:

यूपीएससी परीक्षा में नया नियम लाने की योजना बना रहा है. जहां इंटरव्यू में फेल हुए उम्मीदवारों को दूसरी सरकारी नौकरी दी जाएगी. आइए विस्तार से जानते हैं.यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन ने केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों को सिविल सेवा परीक्षा के उन उम्मीदवारों की भर्ती करने की सिफारिश की है जो इंटरव्यू में सफल नहीं हो पाते हैं. अगर ऐसा होता है तो युवाओं के लिए बेहतर रोजगार के अवसर खोल सक

ा है । यूपीएससी के अध्यक्ष अरविंद सक्सेना ने कहा, हमने केंद्र सरकार और मंत्रालयों को ऐसे लोगों की भर्ती करने का प्रस्ताव दिया है, जो सिविल सेवा और अन्य परीक्षाओं में इंटरव्यू राउंड में फेल हो जाते हैं. ये बात उन्होंने हाल ही में ओडिशा में आयोजित राज्य लोक सेवा आयोग के 23वें सम्मेलन में कही थी । अरविंद सक्सेना ने बताया 1 साल में करीब 11 लाख उम्मीदवार UPSC की परीक्षा में हिस्सा लेते हैं. फि

प्री, मेंस और इंटरव्यू की प्रक्रिया होने के बाद 600 उम्मीदवारों को चुना जाता है। वहीं बड़ी संख्या में ऐसे उम्मीदवार भी जो वाइवा वॉइस के अंतिम चरण तक तो पहुंच जाते हैं, लेकिन रैंक लाने में असफल हो जाते हैं. सरकार और अन्य संगठन भर्ती के दौरान उन पर विचार कर सकते हैं क्योंकि वे पहले ही मुश्किल स्क्रीनिंग प्रक्रिया से गुजर चुके हैं और केवल अंतिम चरण में असफलता का मुंह देखना पड़ता है. वही

ं अगर ऐसा होता है तो युवाओं में परीक्षा के तनाव को कम करने में मदद मिलेगी. साथ उनके मन में नौकरी को लेकर उम्मीद बनी रहेगी।अरविंद सक्सेना ने कहा कि परीक्षा की प्रक्रिया को उम्मीदवार फ्रेंडली बनाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आने वाली सिविल सेवा परीक्षाओं के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को जल्द ही अपने आवेदन फॉर्म को वापस लेने का ऑप्शन भी दिया जाएगा। परीक्षा के ल

िए ऑनलाइन आवेदन करेगा तो आवेदन के लिए एक (रजिस्ट्रेशन नंबर) जनरेट किया जाएगा. सक्सेना ने स्पष्ट करते हुए कहा कि यह पूरी तरह से स्वैच्छिक आधार पर किया जाएगा।