BREAKING NEWS:
IST 06:01:32 AM ⬤ पीडीए समर्थित जाप(लो•) के उम्मीदवार नवीन कुमार ने दर्ज कराया अपन

72 घंटे के भीतर पूर्णिया पुलिस ने शक्ति मल्लिक हत्याकांड का किया भंडाफोड़, तेजस्वी और तेजप्रताप पर लगे आरोप निकले बेबुनियाद

श्रवण कुमार | 07-10-2020 19:37:46

72 घंटे के भीतर पूर्णिया पुलिस ने शक्ति मल्लिक हत्याकांड का किया भंडाफोड़, तेजस्वी और तेजप्रताप पर लगे आरोप निकले बेबुनियाद Sonebhardaexpress.com | Bihar News | Nerth East News | West Bengal News | Sikkim News | Purnea News |

पूर्णिया:

हाई प्रोफाइल राजद नेता शक्ति मल्लिक हत्याकांड मामले का पूर्णिया पुलिस ने सफलतापूर्वक भंडाफोड़ कर लिया है । घटना में शामिल सभी 7 मास्टरमाइंड को पुलिस ने 72 घंटे के भीतर धर दबोचा है ।पुलिस के मुताबिक घटना को अंजाम तक पहुंचाने के लिए दलित नेता शक्ति मल्लिक की हत्या की साजिशकर्ताओं ने एक कुख्यात शूटर को भी भाड़े पर लाया था । वही शक्ति मल्लिक हत्याकांड में राजद नेता तेजस्वी, तेजप्रताप य

ादव, अनिल साधु पासवान पर लगे आरोप को बेबुनियाद बताया है। बुधवार को प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पुलिस अधीक्षक विशाल शर्मा ने बताया कि कांड को गंभीरता से देखते हुए मृतक दलित नेता शक्ति मल्लिक की हत्या करने वाले चार- पांच अज्ञात अपराध कर्मियों के गिरोह को चिन्हित कर गिरफ्तारी करने हेतु आनंद कुमार पाण्डेय, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सदर के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया । वैज्

ानिक अनुसंधान साक्ष्य संकलन, तकनीकी अनुश्रवण एवं मानवीय सुत्रों पर काम करते हुए घटना में संलिप्त अपराधी अफताब पिता-मो0 जाहिद साकिन-मधुबनी सिपाही टोला थाना-के0हाट जिला-पूर्णियाॅं एवं मो0 तनबीर अंजुम पिता-मो0 सादिर हुसैन साकिन-माधोपाड़ा अरबिया काॅलेज रोड थाना-के0हाट सहायक को 01 देशी पिस्तौल एवं 01 मोबाईल फोन के साथ को उनके घर से तथा अफताब को घटना में प्रयुक्त 01 देशी कटटा 01 स्मार्ट फोन पि

्टल के साथ गिरफतार किया गया पूछताछ के क्रम में इन्होंने अपने अपराध को स्वीकार किया तथा उनके स्वीकारोक्ति बयान में बताया कि शक्ति मलिक से इन्होने ब्याज पर 70,000/- रुपये लिये थे तथा उस रुपये की वापसी हेतु बार-बार तगादा करने लगे और सादे स्टाम पर इसका हस्ताक्षर करवाकर डायरी में 70,000/- रुपये के बदले 2,10,000/- (दो लाख 10 हजार ) रुपये की माॅंग करने लगा, अफताब के कहने पर कि ये गरीब व्यक्ति है उतना रुपये देन

में असमर्थ है तो शक्ति मलिक द्वारा तरह-तरह का शारिरीक एवं मानसिक प्रताड़ना देने लगा साथ ही इनके जानने वाले व्यक्ति को भी व्याज पर रुपये दिये थे वो भी रुपये इसी से मांगने लगा ।इसी तरह मो0 तनबीर अंजुम 95,000/- रुपये शक्ति मलिक से ब्याज पर लिया था, जिसको देने के तुरंत बाद ब्याज सहित शक्ति मलिक 01 लाख पाॅच हजार तीन सौ रुपये माॅगने लगा, नहीं देने पर इनका भोजन का दुकान को तोड़-फोड़ दिया साथ ही मो0 तनबी

अंजुम ने जब अरबिया काॅलेज के पास दुबारा दुकान खोला तो उसे भी शक्ति मलिक ने पुनः उसके नये दुकान तोड़-फोड़ दिया। उसके बाद मो0 तनबीर और अफताब को अपने पास रखकर तरह-तरह काम करवाते हुए मानसिक रुप से प्रताडित करते हुए देर रात को जाने देता था, जिससे ये दोनों काफी परेषान हो गये इसके साथ ही अर्चना देवी नाम की एक महिला, जो मुर्गी र्फाम के पास रहती थी, उसे एवं उनके पति-चंदन कुमार गुप्ता के साथ भी तरह-त

रह का अमर्यादित व्यवहार तथा समाज के सामने बेइज्जत किया जाता था। इसी प्रकार महिलाओं के साथ भी शक्ति मलिक का व्यवहार अमर्यादित था । ये सब देखते हुए ये दोनों ने शक्ति मलिक को रास्ते से हटाने के लिए योजना बनाया तथा योजनाबद्व तरीके से घटना में संलिप्त अपराधकर्मियों 1.सलीम उर्फ पच्चपन 2.मो0जुनैद पिता-मो0गैसूल नदाॅफ, 3मो0 अफरोज, 4.एकाम खान उर्फ मिराज एवं 5.मो0 युसूफ के साथ मिलकर बीते 4 अक्टूबर क

समय करीब-3ः30 बजे शक्ति मलिक के घर के चहारदिवारी पार कर घर के पास बाॅथरुम में घात लगाकर बैठकर घर का दरबाजा खुलने का इंतजार करने लगा, ज्योंहि समय करीब 06ः30 बजे शक्ति मलिक घर का दरबाजा खोला उनमें से चार-पाॅच अपराधी घर में घुसकर शक्ति मलिक पर कई राउन्ड गोली चलाकर कर शक्ति मलिक की हत्या कर दिया। तथा अफताब के निशानदेही एवं स्वीकारोक्ति ब्यान पर घटना में संलिप्त अन्य अपराधकर्मियों 1.सलीम उर्

पच्चपन के साथ 01 देशी पिस्टल 01 गोली 01 मोबाईल, मिराज खान उर्फ एककाब खान के पास से 01 देशी पिस्तौल 01 गोली, जुनैद के पास से 01 देषी पिस्तौल 01 गोली 01 मोबाईल, मो0 युसूफ के पास से 01 मोबाईल अफरोज के पास से 01 धारदार चाकू के साथ को अलग-अलग जगह से गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के क्रम में सभी ने अपने अपराध को स्वीकार किया अनुसंधान के क्रम में किसी प्रकार का कोई राजनीतिक षड्यंत्र होने की बात की पुष्टि नहीं हु

।विधिसम्मत कारवाई पूर्ण करते हुए गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायिक हिरासत में भेजने की कार्रवाई की जा रही है।