BREAKING NEWS:
IST 06:01:32 AM ⬤ पीडीए समर्थित जाप(लो•) के उम्मीदवार नवीन कुमार ने दर्ज कराया अपन

रौनियार मध्य विद्यालय का अस्तित्व खतरे में।

R K S | 04-01-2019 21:04:52

रौनियार मध्य विद्यालय का अस्तित्व खतरे में। Sonebhardaexpress.com | Bihar News | Nerth East News | West Bengal News | Sikkim News | Purnea News |

मधुबनी:

शिक्षकों के साथ दुर्यव्यवहार से गरमाया माहौल। सीओ ने कहा नापी अधूरी है अतिक्रमण हटाने की होगी पहल जयनगर मधुबनी संवाददाता स्थानीय थाना से महज 50 गज के दूरी पर स्थित रौनियार मध्य विद्यालय का मामला गरमाता जा रहा है। पिछले महीने से कुछ लोगों द्वारा समाज का हवाला देकर स्कूल के अस्तित्व को मिटाकर धर्मशाला बनाने का जिद बड़ी घटना को न्यौता दे रही है। इसी कड़ी में बुधवार को बीईओ के निरीक्

ण के बाद कुछ स्थानीय लोगों द्वारा स्कूल के शिक्षकों के साथ दुर्यव्यवहार तथा स्कूल के समानों को यत्र तत्र फैकनें का मामला थाना पुलिस तक पहुंच गया। हालांकि दुसरे पक्ष के लोगों ने भी स्कूल प्रबंधन के विरूद्ध आवेदन दिया है। जिसे पुलिस जांच कर रही है। बता दें कि मामला का विवाद उक्त स्कूल पर धर्मशाला बनाने के एक कमिटी गठन के बाद सतह पर आयी। जिसपर स्कूल के प्रभारी प्रधानाध्यापक हरी नारा

यण गुप्ता ने सीओ समेत अन्य वरीय अधिकारियों को आवेदन दिया था। जिसपर पुलिस ने जांच प्रतिवेदन अप्राथमिकी संख्या 284@18 में अनुमंडल न्यायिक दंडाधिकारी को प्रतिवेदित कर विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न की संभावना व्यक्त करते हुये प्रथम पक्ष व द्वितीय पक्ष अरूण गुप्ता रंजीत गुप्ता समेत 10 लोगों के विरूद्ध प्रतिबंधित करने की अनुशंसा की थी। पुलिस ने अपने जांच प्रतिवेदन में लिखा है कि सन 1926

. में यह जमीन बिन्दालाल साह वगैरह ने जी.आर.एम हाई स्कूल के नाम हस्तांतरण किया था । उस वक्त बनारसी साह सेक्रेट्री थे। बाद में यह स्कूल पुनः सन 1966 ई. में विद्यालय उसी जमीन पर रौनियार मध्य विद्यालय के नाम से अब तक चल रही है। जिसका जमाबंदी स्कूल के नाम से है। पुलिस जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि इसी जमीन पर विद्यालय के आसपास द्वितीय पक्ष के कुछ लोगों ने चारों तरफ से अतिक्रमित कर विद्यालय के

गेट पर रौनियार धर्मशाला लिखकर धर्मशाला बनाना चाह रहे है। तथा विद्यालय को बंद करना चाह रहे है। पुलिस जांच में बताया गया कि द्वितीय पक्ष द्वारा धर्मशाला से जुड़े कोई भी कागजात नही प्रस्तुत किया गया। किन्तु वे लोग जबरन उक्त जमीन पर स्कूल बंद कर स्कूल हटाना चाह रहे है। शिक्षकों को मारपीट करने की धमकी देते है और स्कूल के जमीन को अतिक्रमण करते जा रहे है। स्कूल के प्रभारी एचएम ने घटना की प

ष्टि करते हुये बताया कि स्कूल सरकार के वित्त रहित शिक्षा नीति के तहत चल रही है। स्कूल बिहार सरकार से प्रस्वीकृति प्राप्त है। जो अधिग्रहित के लिए लंबित है। बीईओ दिनेश महतो ने बताया दुसरे पक्ष द्वारा धर्मशाला के दावा की शिकायत मिली थी। जांच की जा रही है। थानेदार ने बताया कि दोनो तरफ से आवेदन प्राप्त हुआ है। जांच की जा रही है। सीओ संतोष कुमार ने बताया कि स्कूल की नापी 90 प्रतिशत कर लिया

गया है। अतिक्रमण विवाद चलाकर अतिक्रमण मुक्त किया जायेगा।