पटना । बिहार लोक सेवा आयोग की 67वीं संयुक्त प्रतियोगी प्रारंभिक परीक्षा के पेपर लीक मामले की जांच कर रही आर्थिक अपराध विंग (इओयू) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मंगलवार को एक बीडीओ को हिरासत में लिया है। बड़हरा प्रखंड के बीडीओ जयवर्धन गुप्ता परीक्षा केंद्र पर मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात थे। आरा के वीर कुंवर सिंह परीक्षा केंद्र पर पेपर लीक का मामला सामने आया था और गुप्ता इसी केंद्र पर परीक्षा मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात थे। सूत्रों के अनुसार आर्थिक अपराध विंग की टीम अब जयवर्धन गुप्ता को जांच के लिए पटना ले गई है। बीपीएससी का पर्चा लीक मामले में ईओयू के हाथ कुछ सबूत लगे थे जिसके बाद उन्हें जाँच के क्रम में हिरासत में लिया गया है। माना जा रहा है कि गुप्ता जिस परीक्षा केंद्र पर मजिस्ट्रेट थे वहीं से पेपर लिक हुआ है। हालांकि पेपर लीक में गुप्ता की संलिप्तता थी या नहीं इसे लेकर अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है। लेकिन उनकी उपस्थिति में ही प्रश्न पत्र खोलने की बात हो रही है इस कारण संदेह के आधार पर उन्हें हिरासत में लिया गया है।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »
Exit mobile version