कृषि विभाग में सहायक राजेश की है कोरोड़ों की प्रोपर्टी

भागलपुर /पूर्णिया। BPSC पीटी पेपर लीक मामले में जिन चार लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उसमें भागलपुर का राजेश कुमार भी है। कृषि विभाग (विकास भवन) सहायक राजेश पहले से ही शातिर था। राजेश मूल रूप से भागलपुर जिले के सजौर थाना क्षेत्र जगन्नाथपुर शाहकुंड का रहने वाला है। आस-पास के लोग तो कुछ बताने से कतरा रहे हैं। इससे उसके रसूख का पता चलता है। लेकिन कुछ लोगों ने बताया कि राजेश सचिवालय में नौकरी लगने से पहले भी ठगी कर चुका है। बैंकिंग में नौकरी दिलाने के नाम पर कई लोगों से रुपया ठगने का आरोप है। वहीं उसके घर पर नेताओं का भी आना जाना था।

दो साल पहले ही सचिवालय में लगी थी क्लर्क की नौकरी

राजेश कुमार की नौकरी 2018 में सचिवालय में लगी थी। वह कृषि विभाग में सहायक के पद पर कार्यरत था। इसके बाद से पूरा परिवार भागलपुर और पटना में रहता था। राजेश के पिता अर्जुन सिंह भी करोड़ों की जायदाद के मालिक हैं। जानकारों की माने तो भागलपुर शहर में करोड़ों की जमीन भी है। राजेश के पिता पर भागलपुर में हत्‍या का मुकदमा दर्ज है। राजेश तीन भाइयों में सबसे बड़ा है।
छह साल पहले लॉज से बैंकिंग के प्रश्न का किया था हेराफेरी
राजेश को प्रश्न पत्र लिख करने का पूर्व में भी काफी अनुभव है। छह साल पहले बैंकिंग परीक्षाओं में सेंटिंग करने का मामला है। भागलपुर शहर के खंजरपुर स्‍थ‍ित एक लॉज में प्रश्‍ को हेराफेरी किया था। पर उस मामले में वह बच गया था। पर कई अन्य लोग गिरफ्तार हुए थे।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »