पटनाः बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के पटना, गोपालगंज, दिल्ली, भोपाल सहित 17 ठिकानों पर सीबीआई की एक तरफ छापेमारी चल रही है और दूसरी तरफ उनके समर्थक सड़क पर उतरकर हो हल्ला मचा रहे हैं। शुक्रवार की सुबह से राबड़ी देवी के 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास पर सीबीआई की टीम छापेमारी कर रही है।

RRB में गड़बड़ी का आरोप
लालू प्रसाद यादव के रेल मंत्रित्वकाल में हुई गड़बड़ी को लेकर सीबीआई की 17 जगहों पर छापेमारी हुई। सूत्रों की मानें तो तेजप्रताप और राबड़ी देवी दोनों से अलग-अलग कमरे में पूछताछ चल रही है। गलत तरीके से नौकरी देने के मामले में हुई लेनदेन को लेकर सीबीआई की छापेमारी हुई।
ज्ञात हो कि वर्ष 2004 से 2009 तक लालू के रेल मंत्री के कार्यकाल के दौरान गड़बड़ी हुई थी। जब लालू रेल मंत्री थे तब घोटाला हुआ था। उस वक्त कई लोगों से बेहद महंगी जमीन लेकर लोगों को नौकरी देने का मामला सामने आया था। इसी को लेकर सीबीआई ने मामले को दर्ज किया था और उसी सिलसिले में यह जांच हो रही है।
नौकरी के बदले जमीन
सीबीआई लालू प्रसाद यादव के रेल मंत्री रहते अनियमितता बरतने और जमीन के बदले नौकरी देने के मामले में शुक्रवार को एक बड़ी कार्रवाई कर रही है। फिलहाल देश भर के 17 ठिकानों पर सीबीआई की टीम छापेमारी कर रही है। पैतृक गांव गोपालगंज में भी छापेमारी के लिए टीम पहुंची है। यह छापेमारी तब शुरू की गई है जब लालू प्रसाद यादव दिल्ली में है और अपनी बड़ी बेटी मीसा भारती के आवास पर स्वास्थ्य लाभ कर रहे हैं जबकि उनके छोटे बेटे और बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव फिलहाल एक कार्यक्रम में भाग लेने के लिए अपनी पत्नी और राजद सांसद मनोज झा के साथ लंदन के गए हुए हैं।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »