पूर्णिया मेडिकल कॉलेज हर वक्त सुर्खियों में रहता है। कभी डॉक्टर के साथ हाथापाई तो कभी डॉक्टर की लापरवाही से मरीज की मौत होना। इस बार डॉक्टर की लापरवाही से जच्चा बच्चा दोनों की मौत हो गई। परिजनों ने जच्चा बच्चा की मौत के बाद पूर्णिया मेडिकल कॉलेज स्थित लेबर रूम में जमकर हंगामा प्रदर्शन किया है। साथ ही लापरवाह डॉक्टर पर कार्यवाई की मांग की हैं। मृतिका की पहचान केनगर थाना के सबुतर गांव निवासी मो. केसर के 22 वर्षीय पत्नी अजमेरी खातून बताया जाता हैं। मृतिका अजमेरी खातून के पिता मो. इसराइल ने कहा कि मंगलवार को प्रसव के लिए उसने अपनी बेटी अजमेरी खातून को पूर्णिया मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया था। जहां आज सुबह तक उनकी बेटी स्वस्थ थी।प्रसव के दौरान नर्स ने उनके पेट को इतना दबाया जिसे जच्चा और बच्चा दोनों की मौत हो गई। उसने कहा कि डॉक्टर वहा मौजूद नहीं थे। अगर डॉक्टर रहते तो इस तरह की लापरवाही नहीं होती। डॉक्टरों और नर्सों की लापरवाही के कारण ही उनकी बेटी और नवजात की जान चली गई।वहीं जच्चा और बच्चा की मौत से नाराज परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ खूब प्रदर्शन किया। वहीं हंगामे की सूचना पाकर के हाट थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। मौके पर मौजूद अस्पताल अधीक्षक ने मामले की जांच कर कारवाई  के आश्वासन दिए हैं।

Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Translate »