Home Blog Page 3

50 हजार के इनामी की खोज में जुटी आरपीएफ

0

पटना ।दिल्ली से मिली एक सूचना के बाद 50 हजार का इनामी सुधीर कुमार कुशवाहा की तलाश में आरसीएफ लुट गई है। एनआईए के एक मामले में आरोपी की तलाश की जा रही हैं सुशील कुशवाहा पिता शिव शंकर कुशवाहा बिहार के चंपारण जिला के घोड़ासान हरपुर का निवासी है। एन आई ए ने समस्तीपुर डिवीजन के आठ आरपीएफ पोस्ट सहित पूर्व मध्य रेलवे के सभी पोस्ट कमांडर को इसकी सूचना दे दी है हरेक रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में आरपीएफ इसकी तलाश में जुटी है आरोपी की सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा।

बिहार प्रशासनिक सेवा के 11 अधिकारियों का ट्रांसफर

0

बिहार प्रशासनिक सेवा के 11 अधिकारियों का स्थानांतरण किया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने अधिसूचना जारी कर दिया है। जिन अधिकारियों का ट्रांसफऱ किया गया है उनमें दीवान जफर हुसैन खा,न रजनीश कुमार सिंह, राजीव रंजन, शैलेश कुमार, गुलाम मुस्तफा अंसारी, सुभाष कुमार, प्रभात भूषण, वीरेंद्र कुमार, तरुण गोपाल शरण, राजीव कुमार और अविनाश कुमार शामिल हैं।

गोगरी पीएचसी चिकित्सा प्रभारी और सीएस कार्यालय के हेड क्लर्क चढ़े निगरानी के हत्थे

0

खगड़िया / पटना । पटना से खगड़िया पहुंची निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई की है। टीम ने पहले गोगरी रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एससी सुमन को उसके आवास पर से 50 हजार रुपए घूस लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा। इसके बाद सिविल सर्जन कार्यालय के हेड क्लर्क राजेन्द्र सिन्हा को उसके आवास से 30 हजार रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया। निगरानी की टीम ने गोगरी रेफरल अस्पताल की परिचारिका रूबी देवी की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई।

मुख्यालय के आदेश पर आरोपों की जांच और पूरे मामले की पड़ताल के लिए एक स्पेशल टीम बनाई गई थी। टीम का नेतृत्व  डीएसपी सर्वेश कुमार सिंह कर रहे थे, जिसके बाद बुधवार को यह टीम खगड़िया पहुंची। पहले प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी और फिर सिविल सर्जन कार्यालय में पूरा जाल बिछाकर कार्रवाई की। निगरानी डीएसपी सर्वेश कुमार सिंह ने बताया कि गोगरी रेफरल अस्पताल की परिचारिका रूबी देवी का वेतन पिछले 6 महीने से रुका था। जब वह वेतन की मांग करने गई तो रेफरल अस्पताल के चिकित्सा प्रभारी डॉ एससी सुमन और प्रधान लिपिक राजेंद्र सिन्हा ने 50 हजार रिश्वत की मांग की। इसके बाद रूबी देवी ने निगरानी में लिखित शिकायत दर्ज करवाई। इसके बाद निगरानी द्वारा आरोप सत्यापन करवाने पर शिकायत सही पाई गई। इसके बाद धावा दल का गठन किया गया। गठित ढाबा दल के द्वारा करवाई को अंजाम दिया है।

मधुबनी हत्याकांड का मास्टरमाइंड प्रवीण झा ‘रावण’ सहित 5 अरेस्ट, खुल सकती हत्या की गुत्थी

0

मधुबनी/पटनाः मधुबनी हत्याकांड के मुख्य आरोपी प्रवीण झा को नेपाल से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। प्रवीण के छोटे भाई नवीन झा की गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं हुई है। इस मामले में कुल पांच आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। जिसमें प्रवीण झा के अलावा चंदन झा, मुकेश साफी, कमलेश सिंह और भोला सिंह शामिल है। इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि एडीजी पुलिस मुख्यालय ने की है। मधुबनी हत्याकांड के बाद से ही प्रवीण झा उर्फ रावण की तलाश थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रवीण झा की गिरफ्तारी नेपाल से हुई है, लेकिन पुलिस अधिकारियों का कहना है कि प्रवीण झा को बिहार से ही गिरफ्तार किया गया है। दो गांवों के बीच गैंगवार को जातीय नरसंहार का नाम दिया जा रहा था। हालांकि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि जो भी अपराध किया है, वो किसी भी सूरत में बच नहीं सकता। बेनीपट्टी के महमदपुर गांव में होली के दिन 5 लोगों की निर्मम हत्या कर दी गई थी। मरनेवालों में तीन सहोदर भाई और बाकी चचेरे भाई थे।6 महीने पहले तालाब में मछली मारने को लेकर गैबीपुर गांव के दबंगों और महमदपुर गांव के संजय सिंह (पीड़ित परिवार) के बीच विवाद हुआ था। इस मामले में महमदपुर के संजय सिंह और गैबीपुर गांव के मुकेश साफी ने एक दूसरे के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। पुलिस ने संजय सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। वहीं दूसरी तरफ संजय सिंह ने गैबीपुर गांव के प्रवीण झा समेत गांव के अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई थी। इस मामले में प्रवीण झा की गिरफ्तारी नहीं हुई थी।

गैस रिसाव में महिला सहित चार झुलसे

0

पूर्णिया । अमौर थाना क्षेत्र के धुरपैली पंचायत के वार्ड नंबर दो पिपरा गांव में गैस रिसाव हादसे से महिला सहित चार लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं।इस घटना में अंजली देवी, उसके पति कलानंद विश्वास,उसके पुत्र अमन कुमार व अन्य पड़ोस कि वृद्ध महिला उदनी देवी गंभीर रूप से झुलस गया है।इसकी सर्वप्रथम उपचार हेतु रेफरल अस्पताल अमौर में लाया गया। स्तिथि गंभीर देखते हुए चिकत्सकों ने अच्छी उपचार हेतु सदर अस्पताल पूर्णिया भेज दिया गया।घटना के संबंध में बताया गया कि अंजली देवी जब चाय बनाने के लिए किचन गया तो जब गैस चूल्हा खोला और माचिस जलाया कि किचन में आग लग गई।जिससे अंचली देवी की शरीर में आग लग गई।

जिसको बचाने उसके पति कलानंद विश्वास बचाने गया तो वह भी गंभीर रूप से झुलस गया। आग कि लपट इतनी तेज थी कि किचन के बाहर बरंबदे में बैठे उसके पुत्र अमन कुमार भी झुलस गया।इतनी ही नहीं बरांबदे के निचे खड़ी परोस कि वृद्ध महिला उदनी देवी भी गैस रिसाव की चपेट में आ गई।सभी घायल लोग की इलाज पूर्णिया सदर अस्पताल में चल रही है।अबतक गैस रिसाव की कोई खुलासा नहीं हो पाया है। ग्रामीणों कि मदद से आग पर काबू पाया गया।मुखिया प्रतिनिधि विद्यानंद विश्वास, सरपंच प्रतिनिधि मो एखलाक आलम, वार्ड सदस्य उमेश विश्वास ने घटना की पुष्टि करते हुए संवेदना व्यक्त किया है।

पूर्णिया में 8.51 बजे भूकंप का झटका

0

पूर्णिया ।सोमवार की संध्या लगभग 8. 51 बजे पर भूकंप के झटके महसूस किए गए। जिसके कारण लोगों में अफरा-तफरी मच गई। अचानक आए भूकंप से लोग अपने घरों से निकलकर बाहर सड़कों पर घूमते नजर आए। अचानक आए इस भूकंप से लोगों में चर्चा का विषय बन गया। लोग तरह तरह की बातें करने लगे। 2020 जहां कोरोना लेकर आया। वहीं 2021आते ही भूकंप के झटके दे दिए। हालांकि इस भूकंप से किसी प्रकार की कोई नुकसान होने की कोई सूचना नहीं मिली है भूकंप के झटके कुछ सेकंड के लिए महसूस किया गया।

प्राथमिकी दर्ज होने के महज 72 घंटे के अंदर ठगी कांड का पुलिस ने किया उदभेदन, दो ठगी बाबा गिरफ्तार

0

जानकीनगर थाना पुलिस के द्वारा प्राथमिकी दर्ज होने के महज 72 घंटे के अंदर ठगी कांड उदभेदन करते हुए दो ठगी बाबा को गिरफ्तार किया है । मामले का उदभेदन करते हुए पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने कहा कि जानकीनगर मिर्चाबाड़ी वार्ड 2  निवासी  जग्गन ऋषिदेव  के द्वारा दो अज्ञात ढोंगी बाबा (ठगी) के द्वारा बरगला कर घर में सुख-शांति लाने हेतु घर पर पूजा करने के बहाने तीन लाख रूपया और नौ भर जेवर लेकर भाग जाने के आरोप में लिखित आवेदन के प्राथमिकी दर्ज करवाया था। 

कांड के सफल उद्भेदन,अभियुक्त की गिरफ्तारी तथा कांड में ठगी गये समान की बरामदगी हेतु बनमनखी डीएसपी विभाष कुमार के नेतृत्व में  एक टीम का गठन किया गया। गठित टीम में जानकीनगर थानाध्यक्ष  एवं अन्य थे। गठित टीम के सदस्यों के द्वारा सौर बाजार थानाध्यक्ष के सहयोग से त्वरित कारवाई करते हुए वैज्ञानिक अनुसंधान, तकनिकी अनुश्रवण एवं साक्ष्य संकलन करते हुए प्राथमिकी के महज 72 घंटो के अंदर ही  सौरबाजार थाना निवासी शशीभुषण कुमार और ब्रजेश कुमार घर से गिरफ्तार किया गया। वहीं ठगी के 30 हजार रुपया, नाक का सोने का तीन नकमुनी घटना में प्रयुक्त मोबाईल फोन तथा   मोटर साईकिल के साथ गिरफ्तार किया गया। पूछताछ के क्रम में दोनों ठगी बाबा ने अपना अपराध स्वीकार किया साथ ही बताया कि इनके (शशीभुषण कुमार) घर की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण अपने साला  ब्रजेश कुमार के साथ विभिन्न प्रकार का पत्थर एवं रुद्राक्ष आदि बेचकर पिछले चार वर्षो से 05 से 10 हजार तक की ठगी कर घर का खर्च चलाता आ रहा है। इसी क्रम में जानकीनगर थाना क्षेत्र अन्तर्गत जग्गन ऋषिदेव के घर पर जाकर सतगुरु कबीर सत्संग समारोह के नाम पर इनसे चंदा माॅंगा तब वादी के द्वारा 101 रुपये का चंदा दिया गया साथ ही खाना भी खिलाया । इस बीच दोनों ठग पूरे परिवार के मोबाईल नंबर मांग लिया । जिसकेे बाद बराबर सभी परिवार से बातचीत कर घर के माहौल का जायजा लेकर घर में सुख-शांति  कराने हेतु डीह बंधवाने के नाम पर पूजा कराने तथा पूजा स्थल पर कलश के नीचे 3 लाख रुपये एवं कलश के अंदर 09 प्रकार का जेवर रखने को बोले तथा एक वादी की पूतोहू को घर पर रहने तथा बाकी सभी परिवार को चकमका मंदिर जाकर पूजा करने बोले, जब घर के सभी परिवार पूजा पाठ करने चकमका चले गये तब शशीभुषण कुमार अपने साला को वादी के घर भेजकर वादी की पूतोहू को बेबकूफ बनाते हुए कलश के नीचे रखे रुपये एवं कलश में रखे जेवर को लेकर मोटर साईकिल से फरार हो गये।विधिसम्मत कारवाई पूर्ण करते हुए बरामद सामनों को विधिवत जप्त किया गया तथा दोनों अपराधकर्मियों को गिरफतार कर न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है।

महमदपुर हत्याकांड के आरोपियों के घर पुलिस ने की कुर्की जब्ती की कार्रवाई

0
बेनीपट्टी के गैवीपुर में कुर्की जब्ती की कार्रवाई में जुटे पुलिस पदाधिकारी और कर्मी

सोनभद्र संवाददाता, मधुबनी । बेनीपट्टी थाना क्षेत्र के महमदपुर गांव में होली के दिन हुए गोली सह हत्याकांड मामले में पुलिस ने आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। शनिवार को प्रशिक्षु डीएसपी राकेश कुमार रंजन और सर्किल इंस्पेक्टर राजेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस पदाधिकारियों और कर्मियों द्वारा गैवीपुर, त्यौथ, पौआम, महमदपुर और सेमली गांव में फरार आरोपियों के घर ढ़ोल पीटते हुए हाजिर होने की चेतावनी देते हुए इश्तेहार चिपकाया गया था। वहीं रविवार को दोनों अधिकारियों की उपस्थिति में आधे दर्जन से अधिक थाने की पुलिस द्वारा फरार आरोपियों के घर कुर्की जब्ती की कार्रवाई की गई है। पुलिस द्वारा गैवीपुर में प्रवीण झा और नवीन झा के घर कुर्की जब्ती की कार्रवाई की गई है। पुलिस ने मुख्य आरोपित के घर के चौखट से लेकर खिड़की को तोड़कर घर में रखे सारे सामानों की सूची बना कर वाहन पर लादकर ले गई। पुलिस ने कुर्की के क्रम में घर से बिस्तर, फ्रीज, वाशिंग मशीन, टेबल फेन, पेटी, बक्सा, गोदरेज, कपड़े व अन्य सारा सामान अपने साथ ले गई है। पुलिस के कुर्की-जब्ती की कार्रवाई के दौरान एक हथियार भी बरामद हुआ है। अधिकारी द्वय के नेतृत्व में किए गए कुर्की जब्ती की कार्रवाई अरेर के एसएचओ राजकिशोर कुमार, मधवापुर एसएचओ गया सिंह, साहरघाट एसएचओ सुरेन्द्र पासवान, खिरहर एसएचओ अंजेश कुमार सहित अन्य शामिल थे। दोनों अधिकारियों ने बताया कि जिन जिन आरोपियों के घर इश्तेहार चिपकाया गया था। उन सभी के फरारी के स्थिति में कुर्की जब्ती की कार्रवाई जाएगी। फिलहाल मुख्य आरोपी प्रवीण झा और नवीन झा के घर कुर्की जब्ती की कार्रवाई की गई है।

50 हजार के इनामी कुख्यात अपराधी को पूर्णिया पुलिस ने किया गिरफ्तार

0


पूर्णिया के 50 हजार के इनामी कुख्यात अपराधियों को पूर्णिया पुलिस ने गिरफ्तार किया है।  गिरफ्तार अपराधी कई मामले में फरार थे। मामले की जानकारी देते हुए पुलिस अधीक्षक दयाशंकर ने बताया कि आगामी पंचायत चुनाव को देखते हुए शांतिपूर्ण संपन्न कराने को लेकर जिले के सभी डीएसपी, थानाध्यक्ष एवंओपी अध्यक्षों को सघन छापेमारी अभियान चलाकर अपराधियों और तस्करों को गिरफ्तार करने का सख्त निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि इसी कड़ी में

पुलिस को गुप्त सूचना मिली की मोजमपट्टी कांड  में फरार कुख्यात इनामी अपराधी किसी बड़ी घटना को अंजाम देने वाला है । गुप्त सूचना के आधार पर धमदाहा डीएसपी रमेश कुमार एवं एसटीएफ के साथ संयुक्त छापेमारी के क्रम में मोजमपट्टी सिसवा मुहानी सड़क के पास से दो अपराधियों को गिरफ्तार किया गया।  गिरफ्तार अपराधी भूषण यादव और अखिलेश कुमार है । तलाशी के क्रम में दोनों के पास से दो  जिंदा कारतूस एवं अखिलेश यादव के कमर से एक देशी कट्टा एवं तीन करतूस बरामद किया गया । एसपी दयाशंकर ने कहा कि पकड़े गए कुख्यात अपराधी 50 हजार का इनामी अपराधियों के पूर्व में मौजमपट्टी में घटित कांडो में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।  वहीं दोनों अपराधियों को विधिवत कार्यवाई करते हुए न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है।

बिहार में स्कूल कॉलेज 11 अप्रैल तक बंद, सार्वजनिक आयोजनों पर भी प्रतिबंध

0

बिहार में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सभी स्कूल-कॉलेज व कोचिंग संस्थानों  को 11 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया गया है। सभी तरह के सार्वजनिक आयोजनों  पर भी अगली सूचना तक रोक लगा दी गयी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों को केंद्र में रखकर एक उच्चस्तरीय बैठक की। उन्होंने कहा था कि क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप शिक्षण संसथानों को बंद रखने के बारे में विचार करे तथा सार्वजनिक आयोजनों को भी कुछ दिनों के लिए स्थगित रखा जाए।

मुख्यमंत्री की हिदायत के कुछ ही घंटे के भीतर यह बड़ा निर्णय लिया गया।सभी शिक्षण संस्‍थान 11 अप्रैल तक के लिए बंदसरकार ने शिक्षण संसथानों को 11 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया है। सरकारी दफ्तरों के बारे में यह निर्देश है कि महकमे के प्रधान यह तय करेंगे कि कितनी संख्या में सुरक्षित दूरी का अनुपालन करते हुए कर्मियों को दफ्तर बुलाया जा सकता है। सार्वजनिक आयोजनों पर अगले आदेश तक प्रतिबंध लगा दिया गया है। हां, शादी-ब्याह में अधिकतम ढाई सौ और श्राद्ध में अधिकतम 50 लोग ही शामिल हो सकेंगे। वहीं इस निर्णय के पहले क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के बढ़ते मामले को ध्यान में रखते हुए पूरे राज्य में अधिक से अधिक टेस्टिंग करें। टीकाकरण की संख्या को और अधिक बढ़ाया जाए।  उन्होंने कहा कि बिहार में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। बढ़ते मामलों को ध्यान में रख यह जरूरी है कि जांच अधिक से अधिक हो। उन्‍होंने आरटीपीसीआर जांच को बढ़ाने का भी निर्देश दिया। कहा कि जांच अधिक होगी तो संक्रमण के मामलों का पता चलेगा। कोरोना से लोगों को नुकसान नहीं पहुंचे, इसके लिए सचेत और सक्रिय रहना होगा। 

कोरोना संक्रमण को ले अस्पतालों में रखें पूरी तैयारी : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के लिए अस्पतालों में पूरी तैयारी रखें। टीकाकरण की संख्या बढ़ाएं। उन्होंने लोगों से यह अपील की है कि वे कोरोना संक्रमण रोकने के लिए बनाई गई गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें एवं मास्क का प्रयोग जरूर करें। बैठक में स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने एक प्रेजेंटेशन के माध्यम से सूबे में कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति के बारे में जानकारी दी। कोरोना के एक्टिव मामले, मृत्यु दर, रिकवरी रेट व प्रतिदिन हो रहे जांच आदि के बारे में जानकारी दी। बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव, दीपक कुमार, मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, डीजीपी एसके सिंघल, विकास आयुक्त आमिर सुबहानी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, गृह विभाग के सचिव जितेंद्र श्रीवास्तव, मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार व गृह विभाग के विशेष सचिव विकास वैभव भी मौजूद थे।

Translate »